Breaking News

नोटों के बिस्तर देखकर पुलिस दंग, रातभर चली काले धन की गिनती

राजेंद्र उपाध्याय (वरिष्ठ पत्रकार)

कानपुर।

एनआईए की सूचना पर कानपुर पुलिस की शहर के कारोबारी के घर छापेमारी। छापेमारी में पुलिस को मिले पुराने नोटों के तीन ‘बिस्तर’, 16 गिरफ्तार।पूर्वांचल की एक्सचेंज एजेंसी से बदलवाने की फिराक में था कारोबारी।मोदी सरकार का दावा था, बंद हो चुके सभी नोट सरकार के कोष में चले गए हैं।

उत्तर प्रदेश के कानपुर में एनआईए की छापेमारी के बाद चलन से बाहर हो चुके पांच सौ और एक हजार रुपए के भारी मात्रा में पुराने नोट जब्त किए हैं। पुलिस ने करीब 96 करोड़ 62 लाख रुपए सहित 3 नामी लोग समेत 13 को गिरफ्तार किया है।

नोटबंदी के बाद जब्त किए पुराने नोटों में यह सबसे बड़ी रकम है। कारोबारी के घर से इतनी बड़ी रकम मिलने से शासन प्रशासन के कान खड़े हो गए हैं। जांच के दौरान खुल रही परत दर परत के मुताबिक एनआई देश भर में छापेमारी कर रही है। पढ़ें इस खबर की 10 खास बातें।

1) एनआईए की गुप्त सूचना के आधार पर कानपुर पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर मंगलवार रात (16जनवरी) को शहर दो बड़े कारोबारियों के यहां छापा मारा।

2) इस छापेमारी में पुलिस ने चलन से बाहर हो चुके एक हजार और पांच सौ के करीब 96 करोड़ 62 लाख रुपए जब्त किए।

3) कारोबारी ने इन नोटों के तीन ‘बिस्तर’ बना रखे थे। नोटों का बिस्तर देख पुलिस दंग रह गई।

4) इतनी भारी मात्रा में मिले नोटों की गिनती का सिलसिला सारी रात चलता रहा।

5) कारोबारी इन रूपया को पूर्वांचल की एक एक्सचेंज एजेंसी के जरिए बदलवाने की फिराक में था।

6) पुलिस ने छापमारी में न सिर्फ नोट बल्कि 16 लोगों को भी गिरफ्तार किया है, हालांकि इनके नाम बताने से इनकार कर दिया गया है।

7) नोटबंदी के करीब 14 महीनें बाद हजार और पांच सौ रुपए के नोटों की इतनी बड़ी खेप बरामद की गई है।

8) नोटबंदी के बाद सरकार ने दावा किया था कि बंद हो चुके सभी नोट सरकार के कोष में चले गए हैं, लेकिन इस कार्रवाई से सरकार के दावे को चुनौती मिलती है।

9) कानपुर में हुई छापेमारी के बाद पुलिस को कई अहम जानकारी मिली है, जिसके आधार पर देश के कई शहरों में कार्रवाई का सिलसिला शुरू कर दिया गया है।

10) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कालेधन पर रोक लगाने के लिए 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी की थी।

About ekhlaquekhan

x

Check Also

नही रहे महाकवि गोपालदास नीरज

एखलाक खान expresssamachar.com   हिंदी ...

सरकारी तंत्र की उपेक्षा कहीं प्राइवेट हाथों में देने की साजिश तो नहीं?

शाहगंज (जौनपुर) गुलाम साबिर expresssamachar.com ...

शशि थरूर का विवादित बयान और “हिन्दू पाकिस्तान”

फज़लूर्रहमान शैख़ expresssamachar.com पूर्व केन्द्रीय ...

स्वच्छ भारत अभियान को पलीता लगाता स्वास्थ्य महकमा

शाहगंज (जौनपुर) गुलाम साबिर expresssamachar.com ...

सचिन और धोनी से भी ज्यादा संघर्ष की भट्ठी में तपे लड़के की कहानी

नई दिल्ली। नवनीत मिश्रा Expresssamachar.com ...

%d bloggers like this: